Category: दिवसों पर निबंध (Essay On Days In Hindi)

http://indianexpresss.in

Created with Sketch.

बाल दिवस पर निबंध (Essay On Children’s Day In Hindi)

  बाल दिवस पर निबंध (Essay On Children’s Day In Hindi) : भूमिका : जन्म दिवस मनाना हमारे भारत की एक प्राचीन परम्परा है। हम अपने महापुरुषों के जन्म दिनों को मनाकर उन्हें अपनी श्रद्धा अर्पित करते हैं और अपने व्यवहारिक जीवन में उनके आदर्शों पर चलने की कोशिश करते हैं। पंडित जवाहर लाल नेहरु…
Read more

मेरी माँ पर निबंध (Essay On Mother In Hindi)

मेरी माँ पर निबंध (Essay On Mother In Hindi) : भूमिका : माँ शब्द की कोई परिभाषा नहीं होती है यह शब्द अपनेआप में पूरा होता है। माँ शब्द को किसी भी तरह से परिभाषित नहीं किया जा सकता है। असहनीय शारीरिक पीड़ा के बाद एक बच्चे को जन्म देने वाली माँ को भगवान का…
Read more

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Independence Day In Hindi)

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Independence Day In Hindi) : भूमिका : मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। सभी को समाज में स्वतंत्र होकर जीवन जीने का अधिकार होता है। विश्व में सभी प्राणी स्वतंत्र रहना चाहते हैं यहाँ तक कि पिंजरे में बंद पक्षी भी स्वतंत्रता के लिए लगातार अपने पंख फडफडाता रहता है।…
Read more

गणतंत्र दिवस पर निबंध (Essay On Republic Day In Hindi)

गणतंत्र दिवस पर निबंध (Essay On Republic Day In Hindi) : भूमिका : 31 दिसम्बर, 1928 को श्री जवाहर लाल नेहरु ने ब्रिटिश शासनों को चुनौती दी थी। अगर ब्रिटिश सरकार हमें औपनिवेशक स्वराज देना चाहे तो 31 दिसम्बर, 1929 तक दे दें। लेकिन ब्रिटिश सरकार ने भारतियों की इस इच्छा की पूरी तरह से…
Read more

शिक्षक दिवस पर निबंध-Essay On Teacher’s Day In Hindi

शिक्षक दिवस पर निबंध (Essay On Teacher’s Day In Hindi) : भूमिका : गुरु-शिष्य परंपरा भारत की संस्कृति का एक अहम और पवित्र हिस्सा है। जीवन में माता-पिता का स्थान कोई भी नहीं ले सकता क्योंकि वे ही हमें इस रंगीन दुनिया में लाते हैं। ऐसा माना जाता है कि हमारे जीवन के सबसे पहले…
Read more

हिंदी दिवस के महत्व पर निबंध-Hindi Diwas Essay In Hindi

हिंदी दिवस के महत्व पर निबंध-Hindi Diwas Essay In Hindi हिंदी दिवस के महत्व पर निबंध-Hindi Diwas Essay In Hindi भूमिका : हमारा भारत पश्चिमी रीती-रिवाजों से बहुत प्रभावित है। भारतीय लोग वहां के लोगों की तरह पोशाक पहनते हैं। भरतीय वहां की जीवन शैली का पालन करते हैं, उनकी ही भाषा को बोलना चाहते…
Read more

error: Content is protected !!